Planet News India

Latest News in Hindi

समुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में विश्व जनसंख्या दिवस जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े का शुभारंभ

1 min read

दुनियाभर में प्रतिवर्ष 11 जुलाई को मनाया जाता है। लोगों को पूरे विश्व में बढ़ती जनसंख्या को लेकर जागरूक करने करने के लिए इस दिन को प्रतिवर्ष सेलिब्रेट किया जाता है। इसके साथ ही लोगों में जनसंख्या मुद्दों के समाधान और आगे इससे कैसे लड़ा जाये इसके महत्व पर लोगों को जानकारी प्रदान करते हैं। यूनाइटेड नेशंस ऑर्गेनाइजेशन की ओर से सन 11 जुलाई 1989 में वर्ल्ड पॉपुलेशन डे घोषित किया गया था। उसके बाद से प्रतिवर्ष यह दिन इसी दिन सेलिब्रेट किया जाता है।
यह बातें मंगलवार को समुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े का शुभारंभ करते हुए उपजिलाधिकारी नवगीत कौर एवं चिकित्सा अधीक्षक डा. दलवीर सिंह रावत द्वारा संयुक्त रूप से बताईं। कार्रक्रम का शुभारंभ एसडीएम एवं चिकित्सा प्रभारी द्वारा फीता काटकर किया गया। एसडीएम ने कहा कि 11 से 24 जुलाई के बीच विश्व जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जाएगा इस पखवाड़े में प्री रजिस्ट्रेशन कर दंपत्ति को विभाग की ओर से परिवार नियोजन की सेवाएं प्रदान की जाएंगी। जनसंख्या स्थिरता किसी भी देश के लिए बहुत जरूरी है। बेहताशा बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण किसी भी देश में महंगाई एवं बेरोजगारी बढ़ती है। चिकित्सा प्रभारी ने बताया कि पखवाड़े में आशा घर-घर संपर्क कर परिवार नियोजन की सेवाओं के बारे में लोगों को बताएगी एवं परिवार नियोजन के अस्थाई साधन उपलब्ध कराएगी साथ ही लोगों को स्थाई साधन के बारे में बताएगी । छोटा परिवार हमेशा सुखी रहता है। इसलिए सभी को छोटे परिवार के कंसेप्ट को अपनाना चाहिए। कहा कि 27 जून से 10 जुलाई तक दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा चलाया गया है। अभी 24 जुलाई तक जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जाएगा। इस दौरान सभी गांव में सारथी वाहन द्वारा परिवार नियोजन की जानकारी आम जनमानस को दी जाएगी। छोटे परिवार के फायदे बताए जाएंगे परिवार नियोजन की सामग्री बांटी जाएगी ज्यादा से ज्यादा दंपत्ति को परिवार नियोजन के स्थाई एवं अस्थाई साधनों की जानकारी दी जाएगी। लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे । स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी चतुरसिंह ले बताया गया कि वे हताशा बढ़ती हुई जनसंख्या किसी भी देश में अशिक्षा, गरीबी, बेरोजगारी एवं महंगाई उत्पन्न करती है। इसलिए जनसंख्या वृद्धि पर लोगों को जागरूक करना बहुत जरूरी है। विश्व जनसंख्या दिवस 2023 की थीम एक ऐसी दुनिया की कल्पना करना जहां हम सभी से 8 लोगों का भविष्य आशाओं और संभावनाओं से भरपूर हो रखी गई है। इस अवसर पर फैमिली वेलफेयर काउंसिल शशि रानी, स्टाफ नर्स मेंटर उमा, के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी, आशा, एएनएम एवं आंगनवाडी कार्रकत्री आदि मौजूद थे।

Sunil Kumar
Author: Sunil Kumar

SASNI, HATHRAS

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *